Government e marketplace in Hindi – Gem Portal Registration & login

छोटे शहर में रहने वाले कारोबारी भी सरकार के साथ बिजनेस कर सकते हैं। भारत सरकार ने  GeM e Portal – Government e marketplace यानी ऑनलाइन बाजार तैयार किया है। इसके जरिए सभी तरह की खरीदारी ऑनलाइन होगी। खरीद प्रॉसेस में बाबुओं और मिडिलमैन का दखल खत्म किया जाएगा।


What is Government e marketplace – GeM Portal? 

जेम सरकार का ई-मार्केटप्लेस है। इसे 9 अगस्त 2016 को शुरू किया गया था। वाणिज्य मंत्रालय ने डायरेक्टर जनरल और सप्लाईज एंड गुड्स (डीजीएस एंड जी) को बंद कर इसे शुरू किया था। पहले यही सरकारी खरीद को मैनेज करती थी। इसकी जगह जेम पूरी तरह से पेपरलेस, कैश लेस ई-मार्केटप्लेस है। इस प्लेटफॉर्म पर कोई भी विक्रेता आसानी से रजिस्ट्रेशन करा सकता है। एक खुला मंच होने के कारण सरकार के साथ बिजनेस करने वालों के सामने यहां कोई बाधा नहीं है। हर कदम पर खरीदार उसके संगठन के प्रमुख, विक्रेताओं को ई-मेल से सूचना भेजी जाती है। जेम पर सीधी खरीदारी मिनटों में की जा सकती है क्योंकि पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है।

Documents for GeM Registration 

Government e market place पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको GeM – ओफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा. GEM registration के लिए व्यापारियों को एक बहुत ही आसान प्रक्रिया में जाना होगा। उसके लिए आपको कुछ ज़रूरी डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ेगी जैसे –

  • आधार कार्ड
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • सिन, पेन, डीआईपीपी, उद्योग आधार, इनकम टैक्स रिटर्न
  • फर्म का पता
  • बैंक खाता




Benefits of Government e Marketplace

इस पोर्टल पर 36,665 खरीदार संगठन हैं। 2.5 लाख विक्रेता और सेवा प्रदाता हैं। 10 लाख से ज्यादा प्रोडक्ट हैं। 2,252 स्टार्टअप इस प्लेटफार्म से जुड़े हैं। उत्तर प्रदेश ऑर्डर देने के मामले में सबसे आगे है। इसने अब तक 2,636 करोड़ के ऑर्डर दिए हैं।जेम ने इस सारी प्रक्रिया को इतना आसान कर दिया है कि कोई भी इंटरप्रन्योर आसानी से इस पोर्टल पर रजिस्टर करके सरकार से डील कर सकता है और अपना प्रोडक्ट बेच सकता है।

जेम से मिलने वाली सुविधाएँ – GeM Portal facilities

  • जेम के माध्यम से सरकारी विभाग अपनी आवश्यक खरीदारी किसी टेंडर और फाइल्स के  तामझाम के बिना खरीद सकते हैं।
  • केंद्र सरकार के विभागों के अलावा राज्य सरकारें, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियाँ और स्वायत्त निकायों के अधिकृत प्रतिनिधि भी जेम के माध्यम से खरीदारी कर सकते हैं।
  • सामान्य प्रयोग की वस्तुओं/सेवाओं की वैयक्तिक, निर्धारित श्रेणियों के लिये उत्पादों को सूचीबद्ध करना।
  • गतिशील कीमत आधार पर देखने, तुलना करने और खरीद की सुविधा।
  • अधिकांश सामान्य प्रयोक्ता मदों की खरीद के लिये मार्केटप्लेस।
  • जब भी जहां भी आवश्यकता हो वस्तुओं/सेवाओं की ऑनलाइन खरीदारी।
  • मांगों और आदेशों के समूहन के लिये सिंगल विंडो सिस्टम।
  • पारदर्शिता और खरीद की सुविधा।
  • कम मूल्य की खरीद के लिये उपयोगी और प्रति नीलामी/ई-बिडिंग का प्रयोग करके प्रतियोगी दर पर बल्क खरीद के लिये भी उपयोगी।
  • निरंतर वेंडर रेटिंग सिस्टम।
  • आपूर्तियों और भुगतानों की खरीद और मॉनीटरिंग के लिये यूज़र फ्रेंडली डैशबोर्ड।
  • सरल-सुगम वापसी नीति।

जेम पर खरीद व भुगतान प्रक्रिया – GeM – Government e market place Payment process

  • जेम पर खरीद के लिये पंजीकरण होने के बाद मांगकर्त्ता के रूप में मांग प्रस्तुत कर सर्च करना और उत्पाद चुनना।
  • खरीद अधिकारी स्वयं को संतुष्ट करेंगे कि चयनित प्रस्ताव की कीमत उचित है।
  • खरीदार के रूप में आदेश प्रस्तुत करने के बाद आपूर्तिकर्त्ता नियत डिलीवरी तारीख के अंदर प्रेषिती को वस्तुएँ/सेवाएँ डिलीवर करेगा।
  • वस्तुएँ एवं सेवाएँ प्राप्त हो जाने के बाद प्रेषिती जेम में तारीख के साथ प्रोविजनल रिसीट सर्टिफिकेट को अपडेट करेगा।
  • जेम में स्वीकारकर्त्ता प्राधिकारी के लिये डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित कंसाइनीज रिसीट एंड एक्सेप्टेंस सर्टिफिकेट के तहत वस्तुओं/सेवाओं की पूर्ति के 10 दिनों के अंदर क्रेता द्वारा भुगतान किया जाएगा।
  • सरकारी प्रयोक्ताओं द्वारा (अपने विकल्प पर) ऑनलाइन खरीद के लिये जेम का प्रयोग किया जा सकता है।
  • 50 हजार रुपए तक के उत्पाद तथा सेवाएँ जेम पर उपलब्ध किसी भी आपूर्तिकर्त्ता के माध्यम से खरीदे जा सकते हैं, जो अपेक्षित गुणवत्ता, विनिर्दिष्टियाँ और डिलीवरी अवधि को पूरा करते हों।
  • 50 हज़ार से अधिक और 30 लाख रुपए तक कीमत वाले सामान के लिये जेम पर ऑनलाइन बोली प्रक्रिया की सुविधा उपलब्ध है।
  • प्रतियोगिता अधिक होने के कारण ‘रिवर्स ऑक्शन’ के माध्यम से बेहतर गुणवत्ता वाला सामान आसानी से खरीदा जा सकता है।
  • जेम पर कीमत गतिशील है अर्थात ऊंची दर पर उत्पाद की खरीद के बाद यदि उसकी कीमत कम हो जाती है तो  इस पर कोई आपत्ति नहीं होगी।
  • विक्रेता अपने उत्पादों की कीमत स्वयं तय करेंगे, तथापि यह खरीदार पर निर्भर करेगा कि वह अपनी आवश्यकतानुसार कौन से उत्पाद का चयन करता है।
  • प्रेषिती को उत्पाद की सुरक्षित रूप से डिलीवरी की ज़िम्मेदारी विक्रेता की है।
  • यदि अनुमोदन की प्रक्रिया के दौरान कीमतें बदल जाती हैं तो खरीद के लिये चुनी गई मदें होल्ड पर रहेगी और 5 दिनों के लिये कीमत नहीं बदलेगी। इस दौरान क्रेता अधिकारी आवश्यक अनुमोदन ले सकते हैं।
  • यदि कीमतें गिरती हैं तो क्रेता अधिकारी को कम दर पर खरीदने की स्वतंत्रता है।
  • क्रय अधिकारी द्वारा खरीद को अंतिम रूप देने के बाद इनवॉयस जनरेट की जाएगी तथा क्रय अधिकारी को ऑनलाइन भुगतान करना होगा और यह राशि क्रेता के खाते में ब्लॉक कर दी जाएगी।
  •  पूर्तिकर्त्ता को प्रेषिती द्वारा वस्तुएँ प्राप्त होने तथा उसके द्वारा जेम पोर्टल पर निर्धारित समय सीमा के अंदर पुष्टि करने के बाद भुगतान किया जाएगा।




Government e marketplace official website : gem.gov.in

सरकारी योजनाओं की ताज़ा खबरें – Sarkari Yojana Latest Updates के लिए हमारे वेबसाईट पर Regular विजिट करे और ज्यादा से ज्यादा लोगो को share करे.